हिंदी - हमारी मातृ-भाषा, हमारी पहचान

हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने के लिए अपना योगदान दें ! ये हमारे अस्तित्व की प्रतीक और हमारी अभिव्यक्ति का सशक्त माध्यम है !

रविवार, 14 नवंबर 2010

राजू याद आ गया आज बाल दिवस पर

 

सबसे महत्वपूर्ण दिन उनके नाम जो कल के नायक हैं, जो आज पौधे हैं और कल वृक्ष बन हमें छाया,  नेतृत्व और नया जीवन देंगे एक नयी सोच देंगें !

कल मैंने संयोगवस अपने कविता संग्रह ब्लॉग पर एक कविता बालक की उर्जा, उसके समर्पण के ऊपर लिखी थी -

 

एक बालक

खिलौने की तलाश में

अपनी मंजिल तलाशता

खोजता, उतरता, चढ़ता

सूर्य, चंद्र और आकाश

को भी पाने की अभिलाषा रखता

हर राह को उकेरता

आशामय हो निहारता

उद्वेलित हो मग्न रहता

किड्स

जब ज्येष्ठ को देखता

जीतने की आशा दोहराता

मंजिल पाने तक

प्रयासरत ही रहता

चींटी की भाँती

जीत कर ही विश्राम लेता !!! 

जहाँ मेरे पिताजी की पोस्टिंग है वहाँ पर एक गरीब परिवार था, बच्चों को पढाने की कोई व्यवस्था तो दूर,  एक रहने का ठिकाना भी नहीं था, पिताजी ने अन्य आर्थिक सहयोग के अलावा उस परिवार के एक बच्चे को अपने घर ले आये जिससे उसको शिक्षा का एक माहौल मिल सके, अब तो राजू परिवार के एक सदस्य जैसा ही हो गया है ! OgAAAKMltl_16hNxbIyPtIAHjulxbXHKANjmqPgFVFklCFxfKjYqbcHCFJItHTXrzgrSBR2nby0NnIW0q3yDZrDzIp4Am1T1UDwX_QNY_yWtCxN2nf5PMrynSpnO

आप भी किसी एक राजू को आगे बढाने का बीड़ा उठायें तो ये बाल दिवस मनाना सार्थक हो जाए !

कुछ दिन पहले दोनों बच्चों को एक दूसरे को नक़ल करते पकड़ा था ..उसी का ये विडियो बोनस में :)

10 टिप्‍पणियां:

Arvind Mishra ने कहा…

बालदिवस की समुचित सामायिक और संदश देती पोस्ट !

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

एक एक राजू को हर कोई सहारा देने का बीड़ा उठा ले।

ZEAL ने कहा…

.

Very inspiring post .

.

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

आपके पिताजी का उदाहरण अनुकरणीय है। राजू अभी किस कक्षा में है?

बच्चों का विडिओ देखकर मज़ा आ गया, सुपर्ब!

शिक्षामित्र ने कहा…

अच्छा लगा आकर। बालपन श्रम करने की नहीं,खेलने-कूदने की उम्र होती है। बेसहारा और ग़रीब बच्चों के प्रति करुणा का भाव उन्हें वह सब पाने का अवसर दे सकता है,जो अन्यथा संभव नहीं है।

Rahul Singh ने कहा…

बच्‍चे, मन के सच्‍चे. सच्‍चे मन से सच्‍चे मन की पहचान.

abhi ने कहा…

I feel so proud after reading this :)

निर्मला कपिला ने कहा…

बाल दिवस पर प्रेरणादायी पोस्ट। आपका भारत मे स्वागत है\ पंजाब मे आये तो बातायें। शुभकामनायें।

ज़ाकिर अली ‘रजनीश’ ने कहा…

बाल दिवस की हार्दिक शुभकामनाऍं।

---------
गायब होने का सूत्र।
क्‍या आप सच्‍चे देशभक्‍त हैं?

राम त्यागी ने कहा…

सभी का बहुत बहुत शुक्रिया - अनुराग जी, अभी वो ३ कक्षा में है !