हिंदी - हमारी मातृ-भाषा, हमारी पहचान

हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने के लिए अपना योगदान दें ! ये हमारे अस्तित्व की प्रतीक और हमारी अभिव्यक्ति का सशक्त माध्यम है !

मंगलवार, 12 अक्तूबर 2010

कई महीनों से चिली के खदान में फंसे लोग आज बाहर आ रहे हैं !! चलो दुआ करें !

7  सितम्बर को एक मैंने दक्षिण अमेरिकी देश चिली की एक खदान में कुछ लोगों के फँस जाने के बारे में लिखा था,  ३३ लोग तकरीबन २३०० फुट नीचे बिना किसी दैनिक बुनियादी सुविधा के उस अन्धेरे में महीनों तक कैसे जिन्दा रह रहे होंगे,  मुझे तो सोच कर ही डर लगने लगता है!  मैं लगातार इनको बाहर निकालने के प्रयास की प्रगति के बारे में पढ़ रहा था, हम सबकी दुआओं और अन्दर फंसे लोगों के संबल का असर है की जल्दी ही ये लोग  बाहर आ सकेंगे.  ऐसा कहा जा रहा है कि इनके पास तक का रास्ता बना लिया गया है और अब जल्दी ही इनको बाहर लाने कि प्रक्रिया शुरू की जायेगी.  ३० लोगों को एक एक से बाहर आने में काफी समय लगेगा !

रायटर पर इस समाचार की प्रतिक्रिया लोगों में कुछ इस तरह से थी -
"WELCOME BACK FROM HELL!!!!
no one human being should never get down to that hellhole, ever!"

"THE GLOBAL HEART IS TICKING AND WAITING FOR YOU ALL, GUYS!!!
WELCOME BACK TO THE LIGHT!"

यहाँ इनके बारे में और पड़ा जा सकता है !  इन लोगों को हम सब की प्रार्थनाओं की जरूरत है, आओ चलें इन सबके  सकुशल बाहर आने के लिए  ईश्वर से कामना करें !

और अभी अभी टीवी पर दिखाया जा रहा है की जल्दी ही प्रथम व्यक्ति बाहर आने वाला है !  अभी टीवी चालू किया तो देखा की यहाँ अमेरिका में सारे चैनल इसका लाइव प्रसारण  कर रहे हैं !

लाइव ब्लॉग - http://ac360.blogs.cnn.com/category/live-blog/
http://www.cnn.com/ पर बाहर निकालने की प्रक्रिया को लाइव देखा जा सकता हैं जहाँ पर एक व्यक्ति को कैप्सूल के अन्दर भेजा गया है !  बहुत ही उच्च तकनीक का उपयोग करके ये सुरंग फंसे हुए लोगों तक बनायी गयी है - मुझे ख़ुशी है के चलो मानव के कुछ अनुसन्धान आज काम आ रहे हैं नहीं तो इन लोगों का बच पाना संभव नहीं था !! हर तरह से इन लोगों का विशेष ध्यान रखा गया - वो क्या खाएं , मानसिक रूप से कैसे स्वस्थ और खुश रह सकें , कैसे  एक सामाजिक व्यवस्था अन्दर बनायीं जा सके और कैसे सूर्य जैसा प्रकाश उन्हें उपलब्ध कराया जा सके , इन सब बातों पर विशेष ध्यान दिया गया और साथ ही कैसे एक दूसरे से या अन्दर के वातावरण से  दूषित होने से बचा जाये  - इन सब बिन्दुओं पर लगातार ध्यान रखा गया !

चलो  अब आ रहे हैं वो अन्धकार से प्रकाश की और !!

12 टिप्‍पणियां:

Udan Tashtari ने कहा…

मेरी दुआएँ उन तक पहुँचें

Smart Indian - स्मार्ट इंडियन ने कहा…

बहुत खुशी की बात है। जीवन से अनमोल कुछ भी नहीं है।

सतीश सक्सेना ने कहा…

शुभकामनाएं इन लोगों के परिवारों को !

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

ढेरों दुआएं.... वे सब कुशलता पूर्वक बाहर आयें

डॉ. मोनिका शर्मा ने कहा…

ढेरों दुआएं.... वे सब कुशलता पूर्वक बाहर आयें

भुवनेश शर्मा ने कहा…

बहुत खुशी का दिन है आज....ईश्‍वर का बहुत बहुत धन्‍यवाद

उस्ताद जी ने कहा…

Nice

shikha varshney ने कहा…

हमारी दुआएं उनलोगों के और उनके परिवार के साथ हैं.

प्रवीण पाण्डेय ने कहा…

मेरी शत शुभकामनायें।

डॉ टी एस दराल ने कहा…

मिरेकल ! सभी को बधाई ।

राज भाटिय़ा ने कहा…

मेरी शुभकामनाऎ इन सब के लिये, धन्यवाद

रानीविशाल ने कहा…

ईश्वर का धन्यवाद है ...हमारी दुआएं उनलोगों के और उनके परिवार के साथ हैं!!